पोस्ट

जून, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Redmi 9 prime

चित्र
REDMI 9 PRIME High-Performance
Helio G80
Hyperengine Game Technology
Ai Quad Camera Array
With Ultra-Wide And Macro Lenses
16.58Cm (6.53) Fhd+ Ips Display
More Pixels, More Clarity
5020Mah Fast Charging Battery
Supports Up To 18W Fast Charge

Space Blue Mint Green Matte Black
Sunrise flare
Processor
High-Performance Helio G80
Mediatek Helio G80, Octa-Core Processor 2X Cortex-A75 @2.0Ghz 6X Cortex-A55 @1.8Ghz Arm G52 Gpu @950Mhz
Storage And Ram
4Gb+64Gb 4Gb+128Gb
*Availability May Vary Between Markets *Actual Available Memory May Vary Due To Various Factors. As The Oper- Ating System Occupies A Portion Of The Ram, Actual Available Memory Is Less Than Stated. As The Phone Comes With Pre-Installed Applications, The Actual Storage Size Is Smaller Than Stated.
Operating Sysytem
Miui 11+ Android 10
Display
16.58Cm(6.53) Fhd+ Ips Display
Resolution: 2340X1080 Fhd+ Brightness : 400Nit (Typ) Aspect Ratio: 19.5:9 Reading Mode Certified By TÜV Rheinland Corning® Gorilla® Glass 3
Battery
5020Mah (Typ)
Up To 18W Fast Charge Supported Usb T…

MAN NETWORK (METROPOLITAN AREA NETWORK)

चित्र
Man (Metropolitan Area Network )

(A) यह एक ऐसा नेटवर्क है जिसके द्वारा एक City से दूसरी City तक Communication संभव होता है।
(B) लगभग 100 किमी. के क्षेत्र में या एक बड़े शहर में की गयी नेटवर्किंग को Man कहते हैं।
(C) इसमें कई Lan को आपस में जोड़ दिया जाता है।
(D) इसे एक शहर की विभिन्न इमारतों में भी स्थापित किया जा सकता है।
(E) STD Call , Cable Network Man का एक अच्छा उदाहरण है।
(F) इसमें Distributed Queue Dual Bus (DQDB) IEEE 802.6 मानक का प्रयोग किया जाता है।

(G) man में Broadcasting , Video, Voice Etc. की सेवायें दी जा सकती है। 
(H) Data Transmission Rate High होता है। LAN NETWORK WAN NETWORK




WAN NETWORK (WIDE AREA NETWORK)

चित्र
Wan(Wide Area Network )
(A) यह नेटवर्क Lan की तरह किसी भी क्षेत्र तक सीमत नहीं होता। इसे मंडलीय प्रादेशिक, राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर स्थापित किया जाता।
(B) साधारणतः Wan में कम्प्यूटर टर्मिनल आपस में सेटेलाइट के माध्यम से जोड़े जाते हैं।

(C) उदा. के लिये रेलवे रिजर्वेशन सिस्टम, इसमें दिल्ली में रहकर मुंबई से कोलकता जाने का रिजर्वेशन कराया जा सकता है। यह सब Wan के द्वारा संभव है।
(D) इसी प्रकार Aerline रिजर्वेशन में भारत में रहकर कनाडा से सिंगापुर का रिजर्वेशन कराना आसान है। यह सब Wan के द्वारा संभव है।
(E) Lan की अपेक्षा Wan की गति धीमी है।
(F) इसके द्वारा एक बहुत बड़े क्षेत्र में Information को Voice , Video , Image के द्वारा Send किया जा सकता है।
(G) The Arpanet(Advanced Research Projects Agency) Of The U.S. Department Of Defence Is An Example Of Wan.
(H) Another Example Of Wan Is The Indonet Which Is Being Planed By The Computer Maintenance Corporation, India.
LAN NETWORK MAN NETWORK

LAN NETWORK (LOCAL AREA NETWORK)

चित्र
Lan (Local Area Network )

(A) यह एक ऐसा नेटवर्क होता है जिसके द्वारा किसी एक City के अंदर Communication संभव होता है।
(B) यह नेटवर्क एक डिजीटल संचार नेटवर्क है जिसमें कई कम्प्यूटर आपस में जुड़े होते हैं।
(C) किन्तु यह नेटवर्क एक या दो कि.मी. के क्षेत्र तक ही सीमित होता है।
(D) साधारणतया यह नेटवर्क एक भवन या कार्यालय या किसी संगठन द्वारा ही उपयोग किया जाता है।
(E) Star , Ring , Or Completely Connected Network , Lan के ही उदाहरण है।
(F) यह नेटवर्क प्रायः केबिल के माध्यम से फैलाया जाता है। इसमें हम Coaxial Cable या Optical Fiber Cable का प्रयोग किया जाता है।
(G) इस केबिल की संचार की गति बहुत ही तेज होती हैं Lan में बहुत से टर्मिनल आपस में जुड़े होते हैं
(H) तथा इन टर्मिनल पर अलग-अलग विभिन्न प्रकार के कार्य भी किये जाते हैं।
(I) उदाहरण - Building To Building , Office To Office , Local Call Etc.
(J) Ethernet , Developed By Xerox Corporation, Is A Famous Example Of A Lan.
(K) Omninet , Developed By Corvus Systems , Is An Other Example Of A Lan.

MAN NETWORK
WAN NETWORK

OBR (Optical Barcode Reader)

चित्र
OBR (Optical Barcode Reader)
यह एक प्रकार की Direct Entry Device है।  इसमें भी User को कुछ Type करने की आवश्यकता नहीं होती है। इसमें  एक Scanner ,Barcode को Read करता है। Barcode के Scanner काफी Fast,Accurate एवं सस्ते होते है। इसी कारण इसका Use Departmental Store में करते है। क्योंकि इन Srore में लगभग सभी Items में Barcode अंकित होता है। Barcode मुख्यतः तीन प्रकार के होते है- U.P.C. , Code-39 , Postnet .

U.P.C. का Full Form Universal Product Code है। यह 11 Digit का होता है। इसका Use General Goods के लिये होता है। Code-39 के अंतर्गत 9 Group के 3 Bar प्रत्येक Character के लिये होते है। इसमें Number एवं Character  दोनों को ही Read कर लेता है। यह काफी लोकप्रिय है। Postnet को Usa के Post Office Department ने निकाला था, जिससे Post Office की डाक को सही तरीके से छाँटा जा सके। इस प्रक्रिया में Bar को छोटा या बड़ा नहीं किया जा सकता । इसी कारण यह सबसे कठिना Technology  है। OBR का मुख्य कार्य Vertical Bar को जो अलग-अलग Data के लिये निश्चित होते है,Scan करना होता है। Data Coded In The Form Of Light …

OCR (Optical Character Reader)

चित्र
OCR (OPTICAL CHARACTER READER)



चूंकि Computer के अंदर Data Type करने में काफी Time खर्च होता है। Input की प्रक्रिया को Fast करने के लिए कुछ वैकल्पिक Technology विकसित की गई है। OCR उनमें से एक है। OCR के प्रयोग से Scanner, Printed Copy को Text File में Change कर सकता है। और इस Text File का फिर Word Processor में एडिट किया जा सकता है। जिससे हमारा Time Save होता है।
OCR , Printing का उल्टा काम है। Printing में हम Type करके Data को Printed Output के रूप में बाहर लेते है। जबकि OCR में हम Printing Output से Data Computer के अंदर देते है। OCR Reader Photo Electronic Device के द्वारा Character को Scan करता है। और परावर्तित प्रकाश के Data को Binary Data में बदलकर Computer में Input करता है। और इनकी पहचान पहले से Save OCR Font से की जाती है। Type Writer से Print Characters ,Credit Card को Characters, Atm & Shoping Card के Characters Read कर लेता है।  OCR की Speed 1500-3000 Characters Per Second होती है। OCR का Use अधिकतर Billing System में किया जाता है। OCR के Font Computer में Store रहते है…

MICR (Magnetic Ink character Recognition)

चित्र
MICR (Magnetic Ink character Recognition) इसका Use Banking System में किया जाता है।  इस तकनीक में तैयार किये गये डाटा को Machine तथा User आसानी से पड़ सकते है। इसमें विशेष प्रकार के Printing Font का प्रयोग किया जाता है। या Information को Scan तथा Process करने का एक अत्यंत Secure एवं Fast Medium है। जिसमें हम Electronic Technique का Use करते हुये Data को Read करते है। इसकी सहायता से हम मुख्यतः Cheque Print करते है। Cheque के नीचे प्राप्त Number एवं Character, Managetic Ink के द्वारा प्रिंट किये जाते है। जिसके लिये MICR Toner की आवश्यकता होती है। MICR Printer Printing Font तथा Magnetic Ink (Toner) के प्रयोग से Maganetic Character का निर्माण करते है। MICR पर Based Cheque Character को पहचानने वाली Device को Reader / Sorter कहा जाता है। यह 3000 Cheque Per Minute Read ,Log,Sort & Route कर सकता है। इससे Time Saving & Security रहती है।  TheE13B Font (Character Set) Used By MICR Device.

Process : जब कोई Character Read किया जाता है। तो उसे MICR के Reading Head के नीचे से गुजारते है। जो कि…

Hybrid computer

चित्र
Hybrid Computer
            Analog Computer की Speed तथा Digital Computer की Accuracy को मिलाकर Hybrid Computer बनाया गया है।  ये Computers दिये गये Programs के निर्देशानुसार कार्य करते है। परंतु इनके Programs, Memory में Store होते है। आजकल सभी Field Medical , Engineering , Research Centres में Hybrid Computer का Use होता है।
          उदाहरण - Computer की Analog Device किसी रोगी के Temperature आदि की मापती है। ये परिमाप में Digital भाग के द्वारा अंकों में परिवर्तित किये जाते है। इस प्रकार रोगी के स्वास्थ्य का परीक्षण किया जाता है।

Digital computer

चित्र
Digital Computer
              जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है कि ये Digital अर्थात अंकों पर आधारित होते हैं। ये सभी प्रकार की जानकारी को Binary Digital (0&1) में बदल कर कार्य करता है। प्रति सेकेंड लाखो करोड़ों गणनाएं हो सकने के कारण जटिल समस्याओं का हल भी हो जाता है।
               Digital Continuous नहीं होते है। जबकि यह Value को Count करते हे ।  इनकी सबसे प्रमुख विशेषता यह है कि ये Reliable है।  Digital Computer का उपयोग करने के लिए Programming Language का ज्ञान होना आवश्यक है। Digital Computers सभी Data तथा Instruction एक साथ लेते है। और निर्देशानुसार Calculation करके Result देते है  आज के दौर में सभी Computers Digital Computers है। Digital Computer में Input-Process और Output- Process के सिद्धांत में Cpu Digital Signal का प्रयोग कर Calculation करता है।

ANALOG COMPUTER

चित्र
Analog Computer
(A) Analog ग्रीक भाषा का शब्द है जिसका अर्थ है - राशियों में साम्य स्थापित करना। 
(B) इसमें किसी भौतिक विधि या राशि को Electricity Circut की सहायता से विद्युत सकेंतों में बदल दिया जाता है
(C) Analog ये कम्प्यूटर होते हैं जो भौतिक मात्राओं जैसे Presure , Tempreture , Length Etc. को मापकर उसके Result अंको में परिवर्तित करते हैं।
(D) ये कम्प्यूटर किसी राशि का मापन तुलना के आधार पर करते हैं
(E) Analog कंप्यूटर का उपयोग अधिकांश Mechanical & Engineering के क्षेत्र में होता है क्योंकि इस क्षेत्र में Quantites का उपयोग अधिक होता है
(F) ये कम्प्यूटर केवल अनुमानित परिणाम (Approxsimate Result) देते हैं।
(G) इनसे प्राप्त परिणाम बिल्कुल शुद्ध नहीं होते फिर भी 99% शुद्धता प्राप्त की जा सकती है।
(H) उदा- एक पेट्रोल पंप में लगा Analog Computer से निकलने वाले पेट्रोल की मात्रा को मापता है तथा उसके मूल्य की गणना करके स्क्रीन पर बताता
(I) Analog Computer की यह विशेषता होती है कि ये हमेशा Continous होते है। तथा इनकी Speed High होती है। (J) जबकि इनका सबसे बड़ा दोष यह है कि इनकी Reliability (विश्…

Buffer, chache, virtual, register memory

चित्र
TYPES OF MEMORY
(1). Memory Units-  •1 Nibble = 4 Bits  •1 Byte = 8 Bits •1 Kilo Byte (Kb) 1824 Bytes  •1 Mega Byte (Mb) =1024 Kb  •1 Gega Byte (Gb) =1024 Mb  •1 Tera Byte (Tb) =1024 Gb • 1024 Terabytes = 1 Petabyte • 1024 Petabytes = 1 Exabyte • 1024 Exabytes = 1 Zettabyte • 1024 Zettabytes = 1 Yottabyte • 1024 Yottabytes = 1 Brontobyte • 1024 Brontobytes = 1 Geopbyte

(2). Cache Memory :- यह Primary Memory है। Ram की भांति यह भी डाटा को स्टोर करता है। परंतु यह सारा डाटा नहीं रखता केवल हाल ही में पढ़ा गया डाटा Cache में रखा जाता है। इस तरह यह Ram से अलग है क्योंकि यह Cpu तथा Ram के बीच में High Speed Memory का कार्य करता है।
(3). Virtual Memory :- data की ram तथा हार्ड डिस्क के बीच में अदला बदली की जाती है जिसे हम Virtual Memory का नाम देते हैं यह जितनी अधिक होगी सिस्टम उतना ही अधिक तेज चलेगा।
(4). Registers :- इसका प्रयोग Data Transfer के लिये किया जाता है। Computer में विभिन्न प्रकार के Register उपस्थित होते है। जिनका कार्य भी भिन्न-भिन्न है
•Memory Address (MAR)- Holds The Address of  The Active Mem…

ROM (Read only memory)

चित्र
Rom (Read Only Memory)
(A) Rom वह Memory है जहां कंप्यूटर से Information को केवल Red कर सकते हैं। (B) इनमें कोई Writer Work नहीं कर सकते हैं। (C) इसमें Store Information Permanent होती है।(D) ये Non Volatile Memory होती है।  (E) यह Motherboard में inbuild रहती है।
(F) Types Of Rom :- •Prom  •Eprom  •Eeprom
(I) Prom (Programmable Read Only Memory) :- यह एक ऐसी Memory होती है जिसमें User आवश्यकता पढ़ने पर Programm Read Only Memory कहलाती है इस Chip में लिखे गये Programm बार-बार पढ़कर उपयोग में लाया जा सकता है।
(II) Eprom (Erasable Programmable Read Only Memory) :- Eprom में Programm को एक ही बार लिखा जा सकता है। उसे Change नहीं किया जा सकता है Eprom में Information को Ultra vialete ray-s की सहायता से मिटा सकते हैं। इसलिए इस memory को Erasable Programmable Read Only Memory कहते हैं। लेकिन यह Memory Eprom की अपेक्षा अधिक मंहगी होती है।
(III) Eeprom (Erasable Programmable Read Only Memory) :-यह सबसे अधिक Advance memory है। Special Electronic pulse की सहायता से मेमोरी की सहायता से में प्रोग्राम को Era…

RAM (Random access memory)

चित्र
Ram (Random Access Memory)
इसे Volatile Memory कहते है । कम्प्यूटर में जो भी डाटा या Information भेजी जाती है वह इस मेमोरी में स्टोर होती हैं कम्प्यूटर का स्विच बंद करते ही डाटा Delete हो जाता हैं यह Memory कम्प्यूटर का उपयोग करते समय सबसे अधिक उपयोग की जाती है Ram वह स्थान होता है जहां Memory को बहुत थोड़े समय के लिये Store किया जाता है। यह Memory कम्प्यूटर के पास तभी तक रहती है। जब तक कि Power Supply होती रहती है।
Dynamic Ram- इसे संक्षिप्त में DRAM कहते है । यह सबसे अधिक साधारण रैम है । तथा इसे जल्दी-जल्दी Referesh करने की आवश्यकता पड़ती है। Refresh का अर्थ यहाँ पर चिप को विद्युत आवेशित करना होता है । यह एक सेकेंड में लगभग हजारों बार Referesh होता है । तथा प्रत्येक बार Refresh होने के बाद यह पहले के विषय-वस्तु को मिटा देता है। इसके जल्दी-जल्दी Referesh होने के कारण यह दूसरी Ram की अपेक्षा धीमा है
Synchronous DRAM (सिन्क्रोनस ड्रीम) - इस प्रकार का चिप सामान्य डीरैम की अपेक्षा ज्यादा तेज है। इसके तेज गति का कारण यह है कि यह Cpu की घडी के अनुसार चलता है । तथा इसके कारण यह दूसरे Dram …

BRIEF HISTORY OF DEVELOPMENT OF COMPUTER

चित्र
[1] Abacus (अबेकस)  यह सबसे पुरानी Calculating Device है। चीन तथा मिश्र के लोग इसके जनक होने का दावा करते है। इसमें कुछ पतली छड़े होती है जिसमें कुछ Beads लगे होते है इन Beads की सहायता से Fast Speed में Calculation किया जाता है। Abacus Lati भाषा का शब्द है जिसका अर्थ है- Tablet . आज के स्वरूप में Abacus, Lee Kai-Chen के द्वारा 1958 में बनाया गया है इसमें 4 Stack हैं जिसकी सहायता से Square Root तथा Cube Root निकालना भी आसान है।
[2] Blaise Pascal (ब्लेज पास्कल 1623-62)  यह फ्रांसीसी गणितज्ञ थे जिन्होंने 1642 में "Pascal'S Calculating Machine" नाम की मशीन बनाई । वास्तव में यह पहला Mechanical Calculator था । इसमें भी सभी प्रकार के Arithmetic Calculation किये जा सकते थे । और यही सिद्धांत आज कारो के speedo meter (स्पीड मीटर) बनाने के काम आता है
[3] Liebntiz (लीबनिट्ज 1671) इभी 1671 में एक मशीन बनाई थी, जो सभी प्रकार के Arithematic Calculation कर सकती Square Root भी आसानी से Calculate कर सकती थी ।
[4] Joseph Jacquard (जीजा जैक्वार्ड  (1752-1834) 1801 में इन्होंने एक Loom बनाया था , जि…